भ्रूण लिंग परीक्षण रैैकेट का पर्दाफाश, सरपंच गिरफ्तार
पद्मावत की रिलीज से पूर्व देखने को तैयार करणी सेना
न्यायालय में लोया मामले में सुनवाई के दौरान हुई तीखी बहस
कुमार विश्वास ने अरविंद केजरीवाल पर किए ताबड़तोड़ हमले
केजरीवाल बोले, दिल्ली पर थोपे गए उपचुनाव से विकास में आएगी रकावट
`पद्मावत`: SC में पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई आज, करणी सेना रिलीज से पहले फिल्म देखने को तैयार
जम्मू में एके-47 चुराकर फरार एसपीओ गिरफ्तार
आरएसएस की पत्रिकाएं ‘उदारवाद का स्वर्णिम उदाहरण’ हैं: स्मृति ईरानी
दुनिया के किसी भी देश ने निस्वार्थ भाव से अफगानिस्तान में इतना काम नहीं किया जितना अमेरिका ने
गणतंत्र दिवस परेड की झांकी में साँची के स्तूप की झलक
दावोस में पहली बार होगा योग, दुनिया के नेताओं को सुबह-शाम आसन कराएंगे बाबा रामदेव के शिष्य
डब्ल्यूईएफ : मोदी ने शीर्ष वैश्विक कंपनियों के सीईओ से की मुलाकात
आज है रेवती नक्षत्र, बनना चाहते हैं करोड़पति तो करें इनमें से कोई 1 उपाय
मोदी ने स्विट्जरलैंड के राष्ट्रपति से की मुलाकात
सैयद मुश्ताक अली ट्रोफी में सुरेश रैना का धमाका, 49 गेंदों में बनाये इतने रन
मल्टीस्टार कॉमेडी फिल्म `वेलकम टू न्यूयॉर्क` का ट्रेलर रिलीज
मध्य प्रदेश में दलित शब्द के प्रयोग की मनाही
जयंती: ऐसे बना सुभाष चंद्र बोस का आजाद हिंद फौज, नहीं सुलझी नेताजी की मौत की गुत्थी
संगठन और सत्ता की तरफ राहुल का बड़ा कदम, कांग्रेस मुख्यालय में लगाएंगे जनता दरबार
बीएसएफ का पाक को मुंहतोड़ जवाब, 9000 मॉर्टार दागे, कई चौकियां तबाह
नीच ISIS का एक और कुकृत्य हुआ उजागर: दासियों से बलात्कार के भी बनाये नियम

छिपकर निर्दोषों की हत्या करने के लिए कुख्यात कायर आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (IS) की नीचता का एक और सच सामने आया है | ISIS के नीति नियामकों ने अपने सैनिकों को एक फतवा जारी कर बताया है कि ,जिन महिलाओं को चरमपंथी गुटों ने दास बनाया है उनके मालिक उनसे जबरन यौन सम्बन्ध बना सकते हैं। IS ने इस फतवे में अपनी सेक्स विधि की हर बात को व्याख्या से लिखा है। यह फतवा उन्‍हीं दस्‍तावेजों में मिला है, जो इस साल मई में सीरिया स्थित ISIS ठिकाने पर छापेमारी के दौरान अमेरिकी सेना ने बरामद किए थे।

इस्‍लामिक स्‍टेट के नीति नियामकों ने इस फतवे में जो भी बातें कहीं हैं, वे ISIS के उस नाकब को उतार कर फेंक देती हैं जिसमें वह खुद को आदर्श इस्लामिक संगठन घोषित करता है । इस फतवे से साफ हो गया है कि ISIS दासियों के साथ सदियों पुराने होने वाले सेक्स व्यवहार की फिर से व्याख्या कर रहा है।गौरतलब है कि संयुक्‍त राष्‍ट्र और ह्यूमन राइट्स वॉच ने अपनी रिपोर्ट में ISIS पर हजारों लड़कियों को सेक्‍स स्‍लेव बनाने का आरोप लगाया है।

क्या कहा गया है फतवे में :

इस फतवे की शुरुआत एक सवाल से होती है- ‘हमारे कुछ साथियों ने सेक्‍स स्‍लेव के साथ बर्ताव करते हुए कुछ नियमों का उल्‍लंघन किया है। शरिया कानून में इस प्रकार के उल्‍लंघन की इजाजत नहीं दी गई है। ऐसा इसलिए हो रहा है, क्‍योंकि सदियों से इस कानून पर बात नहीं की गई। क्‍या इस संबंध में कोई चेतावनी जारी की गई है?’

इसके बाद इस्लामिक स्टेट के नीति नियामकों द्वारा जारी इस फतवे में कहा गया है कि जिन गुटों ने महिलाओं को अगवा किया है उनके मालिक उनसे सेक्स कर सकते हैं। इसके बाद इस फतवे में सेक्स संबंधों की संहिता बनाई गयी है जिसमें पिता और बेटे को एक ही महिला के साथ सेक्स करने की मनाही है लेकिन एक पुरुष महिला और उसकी बेटी के साथ सेक्स कर सकता है। फतवे में लिखे एक और नीच नियम में कैद महिलाओं के संयुक्त मालिकों को भी सेक्स करने की छूट दी गयी है। यहां ऐसा माना गया है कि उस महिला पर संयुक्त स्वामित्व है। मालूम हो कि ISIS के चंगुल में 12 साल तक की उम्र की लड़कियां भी शामिल हैं, जिन्हें जबरन दासी बनाया जा रहा है । ISIS उत्‍तरी इराक की यजीदी महिलाओं पर काफी जुल्‍म ढाए हैं।

फतवे में आगे लिखा गया है, ‘अगर कोई सेक्‍स स्‍लेव है, जिसकी बेटी भी सेक्‍स करने लायक है। अगर बाद में गुट मालिक उसकी बेटी से रिश्‍ता कायम करता है तो फिर उस स्त्री से वह कोई और संबंध नहीं बनाएगा।’ फतवे इस प्रकार के कई और कुनियम बनाये गए हैं ; ISIS समय समय पर अपनी नीचता बयां करता रहा है, मगर इस बार उजागर हुए इस फतवे से यह भी साफ़ हो गया कि वह ऐसे नीच कृत्यों की भी पूर्ण योजनाएं बनाता है

सूत्रों से पता चला है कि अमेरिकी सेना के हाथ लगे दस्‍तावेजों में फतवा नंबर-64 में ISIS आतंकी सेक्‍स स्‍लेव के बीच रिश्‍तों के बारे में बताया गया है। इसे ISIS द्वारा 29 जनवरी 2015 को अपने कार्यकर्ताओं के मध्य जारी किया गया था।

हैवानियत का चरम : क्या हुआ ISIS के चंगुल से भागी इन दो लड़कियों के साथ

भारत की 15 सबसे हसीन अभिनेत्रियां

प्रतिक्रिया दीजिए