मंगोलपुरी : मछली मार्केट में छापेमारी के दौरान मिली जहरीली मछलियां, 25 टन मांगुर को किया गया दफन
जल्लीकट्टू पर हिंसक प्रदर्शन के दौरान पुलिस बर्बरता से जुड़ा वीडियो आया सामने
जम्मू-कश्मीर: हदूरा गांव में सुरक्षाबलों और आंतकवादियों के बीच गोलीबारी जारी
प्रियंका गांधी साल 2019 में रायबरेली से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगी?
डोनाल्ड ट्रंप आज रात 11 बजे पीएम मोदी से करेंगे टेलीफोन पर बात
तस्लीमा नसरीन ने यूनिफॉर्म सिविल कोड की वकालत की
तमिलनाडु में हिंसक प्रदर्शन के बीच विधानसभा में पास हुआ जल्लीकट्टू बिल
धमकियों से नहीं डरती, बस्तर नहीं छोड़ूंगी, यहीं रहूंगी : बेला भाटिया
मोदी की डिग्री मामले में डीयू के रिकॉर्ड खंगालने पर रोक
बीएसएनएल (BSNL) के नए ग्राहकों के लिए खुशखबरी : 149 रुपए में 30 मिनट प्रतिदिन मुफ्त कॉल!
उत्तरी दिल्ली में सड़क पर एक महिला का लाश मिली, पुलिस जांच में जुटी
थलसेना प्रमुख बिपिन रावत ने कश्मीर का दौरा किया
यूपी चुनाव 2017 : प्रियंका गांधी वाड्रा के लिए अहम रोल चाहते हैं कार्यकर्ता : कांग्रेस
गोवा: महिला ने लगाया बीजेपी मंत्री पर उत्पीड़न का आरोप, मामला दर्ज
एम्स का डॉक्टर बन लोगों को ठगता था व्यक्ति, पुलिस ने लिया हिरासत में
 सामुदायिक रेडियो स्टेशन राजनीतिक कार्यक्रमों का प्रसारण नहीं कर सकते: I&B मंत्रालय
पंजाब चुनाव: अकाली दल आज जारी करेगा घोषणापत्र,  गरीबों को 25 रु किलो घी देने का वादा
एक और खुशखबरी की तैयारी : पेट्रोल पंपों पर कार्ड पेमेंट पर यह छूट 31 मार्च के बाद भी जारी रख सकता है (RBI)
भारत को तत्काल समान नागरिक कानून की जरूरत: तस्लीमा
‘बजट में न हो चुनावी राज्यों से जुड़ी योजना का एलान’
15 फ़ायदे शादी के बाद SEX करने के

पुरूष और स्त्री के बीच पति और पत्नी के संबंध को स्थापित कर उनके परिवार की शुरूआत करवाने वाले संस्कार को ‘‘विवाह’’ कहते हैं। विवाह व्यक्ति को सामाजिक अनुशासन में रखवाकर संतान उत्पत्ति करवाने की महत्वपूर्ण पद्धित है। विवाह किसी भी व्यक्ति को अनुचित व्यभिचार, चारित्रिक पतन से तो रोकता ही है साथ ही उसके जीवन को खुशहाल बनाकर उसके वंश को आगे बढ़ाता है। इसलिए विवाह के बाद पति-पत्नी के बीच प्रेमपूर्वक शारीरिक संबंध अत्यंत जरूरी हैं। पति-पत्नी के मध्य शारीरिक संबंध ही खुशहाल वैवाहिक जीवन का आधार हैं।

आइए जानें क्यों जरूरी है विवाह के बाद प्रेमपूर्वक शारीरिक संबंध।

पति-पत्नी के शारीरिक संबंधों का भावनात्मक पहलूः-
1. आत्मीयता का सूचकः-

शादी के बाद शारीरिक संबंध अपनेपन का सूचक है। इसके द्वारा आप अपने पार्टनर को बता सकते हैं कि आपको उसकी कितनी ज़रूरत है।

2. आपसी रिश्तों को मजबूत करने के लिएः-

विवाह के बाद जो आंतरिक क्षण आप अपने साथी के साथ बिताते हैं उससे एक-दूसरे के प्रति विश्वास पनपता है।

3. आपसी समस्याओं को हल करने मेंः-

शारीरिक संबंध के दौरान पति-पत्नी एक-दूसरे की समस्याओं को हल करने में सहायक होते हैं। उत्साह और भावनाओं से भरे इन क्षणों में दोनों आपसी मतभेद भुलाकर एक-दूसरे से प्यार करते हैं।

4. आपसी चाहत को उजागर करने मेंः-

आपसी सहमति और स्फूर्ति के साथ बनाए गए शारीरिक संबंध पति-पत्नी की एक दूसरे के प्रति चाहत को उजागर करते हैं।

5. भटकाव को रोकने में:-

शारीरिक संबंध को न चाहना किसी शादीशुदा जि़न्दगी के लिए सही नही है। ऐसा होने पर कमी पूरी करने के लिए आपका साथी बाहरी सहारा लेकर भटक सकता है।

6. असुरक्षा की भावना कम करने मेंः-

शादी के बाद शारीरिक संबंध बनाने से पति और पत्नी के मन में ये भावना आती है कि उसकी जि़न्दगी अपने साथी के साथ सुरक्षित है।

7. स्वाभिमान की भावना जागृत करने मेंः-

शादी के बाद पति-पत्नी के बीच बने शारीरिक संबंध आत्मसम्मान की भावना जागृत करते हंै। वे एक-दूसरे के प्रति समर्पित हैं, इस भावना के साथ वो स्वाभिमान से पूर्ण जि़न्दगी जीते हैं।

8. सकारात्मक सोच जागृत होती हैः-

शादी के बाद शाररिक संबंध बनाने से दोनों का मन प्रफुल्लित होता है। वो जि़न्दगी के प्रति सकारात्मक रवैया अपनाते हैं और नकारत्मक सोच को दूर करते हैं।

9. आत्मविश्वास जगाने मेंः-

विवाह के बाद शारीरिक संबंध से व्यक्ति के अंदर आत्मविश्वास जागता है जो उसे सफल बनाता है।

स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है शादी के शारीरिक संबंधः-
1. प्रतिरक्षण तंत्र को मजबूत करने मेंः-

शोधों के अनुसार विवाह के बाद शारीरिक संबंध बनाने वाले पति-पत्नी कम बीमार पड़ते हैं। उनका प्रतिरक्षण तंत्र मजबूत होता है और शरीर बीमारियों से लड़ने में सक्षम होता है।

2. काम की भावना पुष्ट होती हैः-

शादी के बाद शारीरिक संबंध बनाने से पति और पत्नी के बीच काम की भावना पुष्ट होती है जो कि शरीर में रक्त का प्रवाह सुचारू कर उन्हें स्वस्थ बनाती है।

3. ब्लड प्रेशर नियंत्रण मेंः-

शादी के बाद आपसी सहमति से बनाये गये शारीरिक संबंधों से ब्लड पे्रशर नियंतित्र होता है।

4. हृदयघात की संभावना कम करने मेंः-

शादी के बाद शारीरिक संबंध बनाने से 5 कैलोरी प्रति मिनट खर्च होती है जिससे दिल के धड़कने की गति में तेजी आती है जो दिल को स्वस्थता प्रदान कर हृदयाघात की संभावना को कम करती है।

5. शरीर में हो रहे दर्द को कम करने मेंः-

शारीरिक संबंध बनाने से आॅक्सीटोसिन नाम का हारमोन शरीर में बनता है जो शरीर में हो रहे दर्द को कम करता है।

6. तनाव को कम करने मेंः-

शारीरिक संबंध बनाने के बाद पति-पत्नी का तनाव कम होता है, उनके व्यवहार में चिड़चिड़ापन नहीं रहता है और वे ताज़गी के साथ दिन की शुरूआत करते हैं।

7. अच्छी नींद लाने मेंः-

शारीरिक संबंध के बाद शरीर में प्रोलैक्टिन नाम का हारमोन बनता है जो अच्छी नींद लाने में सहायक होता है।

अतएव विवाह के बाद अपने साथी के साथ बनाए शारीरिक संबंध आपको स्वस्थ जि़न्दगी प्रदान करते हैं और खुशहाल वैवाहिक जीवन का आधार होते हैं।

प्रतिक्रिया दीजिए