फटाफट TOP 10: आज की 10 बड़ी खबरें
जब एक फोटो ने कारण मायावती ने काट दिया टिकट
क्या हुआ जब मज़दूर को दुत्कार कर भगाया इंस्पेक्टर ने : रियल लाइफ का सिंघम
नहीं है छत, नहीं है दीवारें, बस खून-पसीने की मेहनत और खड़ा किया देश का सबसे अनूठा स्कूल
जब IAS अधिकारी का पद छोड़ अध्यापक बन गया 24 साल का युवक
इस गाँव में होती है अफसरों की फसल :
नए साल की धमाकेदार शुरुआत, हुआ पहला घोटाला :जानिये कौन है ये नया लुटेरा
बदलने लगी है भारतीय रेलवे की तस्वीर : ऐसे होंगे नए कोच
इसलिए सेक्स से डरती हैं लडकियां
क्या किसी देश की राष्ट्रपति इतनी हॉट हो सकती है?
पठानकोट हमले का खुलासा किसने लगाई सुरक्षा में सेंध ?
और फिर हम कहते हैं कि सरकार काम नहीं कर रही : क्या इस तरह आएंगे अच्छे दिन?
जब ऑड ईवन फार्मूले पर निकला एक दिल्ली वाले का दर्द : जानिये क्या क्या कहा
पैन कार्ड नहीं है तो हो जाएँ आज से सावधान
हैवानियत का चरम : क्या हुआ ISIS के चंगुल से भागी इन दो लड़कियों के साथ
नीच ISIS का एक और कुकृत्य हुआ उजागर: दासियों से बलात्कार के भी बनाये नियम
न्यू ईयर पार्टी में जाने से पहले जरूर रखें इन बातों का ख्याल
साल 2015: क्या क्या हुआ दुनिया भर में: Special Report News75
इस फिल्म में सनी लीओन ने दिखाया अपना फुल पोर्न रूप , दिए जमकर न्यूड सीन
साल भर में जनता को क्या दिया मोदी ने - डिजिटल लॉकर से स्मार्ट सिटी तक, News75 Special, साल 2015
15 फ़ायदे शादी के बाद SEX करने के

पुरूष और स्त्री के बीच पति और पत्नी के संबंध को स्थापित कर उनके परिवार की शुरूआत करवाने वाले संस्कार को ‘‘विवाह’’ कहते हैं। विवाह व्यक्ति को सामाजिक अनुशासन में रखवाकर संतान उत्पत्ति करवाने की महत्वपूर्ण पद्धित है। विवाह किसी भी व्यक्ति को अनुचित व्यभिचार, चारित्रिक पतन से तो रोकता ही है साथ ही उसके जीवन को खुशहाल बनाकर उसके वंश को आगे बढ़ाता है। इसलिए विवाह के बाद पति-पत्नी के बीच प्रेमपूर्वक शारीरिक संबंध अत्यंत जरूरी हैं। पति-पत्नी के मध्य शारीरिक संबंध ही खुशहाल वैवाहिक जीवन का आधार हैं।

आइए जानें क्यों जरूरी है विवाह के बाद प्रेमपूर्वक शारीरिक संबंध।

पति-पत्नी के शारीरिक संबंधों का भावनात्मक पहलूः-
1. आत्मीयता का सूचकः-

शादी के बाद शारीरिक संबंध अपनेपन का सूचक है। इसके द्वारा आप अपने पार्टनर को बता सकते हैं कि आपको उसकी कितनी ज़रूरत है।

2. आपसी रिश्तों को मजबूत करने के लिएः-

विवाह के बाद जो आंतरिक क्षण आप अपने साथी के साथ बिताते हैं उससे एक-दूसरे के प्रति विश्वास पनपता है।

3. आपसी समस्याओं को हल करने मेंः-

शारीरिक संबंध के दौरान पति-पत्नी एक-दूसरे की समस्याओं को हल करने में सहायक होते हैं। उत्साह और भावनाओं से भरे इन क्षणों में दोनों आपसी मतभेद भुलाकर एक-दूसरे से प्यार करते हैं।

4. आपसी चाहत को उजागर करने मेंः-

आपसी सहमति और स्फूर्ति के साथ बनाए गए शारीरिक संबंध पति-पत्नी की एक दूसरे के प्रति चाहत को उजागर करते हैं।

5. भटकाव को रोकने में:-

शारीरिक संबंध को न चाहना किसी शादीशुदा जि़न्दगी के लिए सही नही है। ऐसा होने पर कमी पूरी करने के लिए आपका साथी बाहरी सहारा लेकर भटक सकता है।

6. असुरक्षा की भावना कम करने मेंः-

शादी के बाद शारीरिक संबंध बनाने से पति और पत्नी के मन में ये भावना आती है कि उसकी जि़न्दगी अपने साथी के साथ सुरक्षित है।

7. स्वाभिमान की भावना जागृत करने मेंः-

शादी के बाद पति-पत्नी के बीच बने शारीरिक संबंध आत्मसम्मान की भावना जागृत करते हंै। वे एक-दूसरे के प्रति समर्पित हैं, इस भावना के साथ वो स्वाभिमान से पूर्ण जि़न्दगी जीते हैं।

8. सकारात्मक सोच जागृत होती हैः-

शादी के बाद शाररिक संबंध बनाने से दोनों का मन प्रफुल्लित होता है। वो जि़न्दगी के प्रति सकारात्मक रवैया अपनाते हैं और नकारत्मक सोच को दूर करते हैं।

9. आत्मविश्वास जगाने मेंः-

विवाह के बाद शारीरिक संबंध से व्यक्ति के अंदर आत्मविश्वास जागता है जो उसे सफल बनाता है।

स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है शादी के शारीरिक संबंधः-
1. प्रतिरक्षण तंत्र को मजबूत करने मेंः-

शोधों के अनुसार विवाह के बाद शारीरिक संबंध बनाने वाले पति-पत्नी कम बीमार पड़ते हैं। उनका प्रतिरक्षण तंत्र मजबूत होता है और शरीर बीमारियों से लड़ने में सक्षम होता है।

2. काम की भावना पुष्ट होती हैः-

शादी के बाद शारीरिक संबंध बनाने से पति और पत्नी के बीच काम की भावना पुष्ट होती है जो कि शरीर में रक्त का प्रवाह सुचारू कर उन्हें स्वस्थ बनाती है।

3. ब्लड प्रेशर नियंत्रण मेंः-

शादी के बाद आपसी सहमति से बनाये गये शारीरिक संबंधों से ब्लड पे्रशर नियंतित्र होता है।

4. हृदयघात की संभावना कम करने मेंः-

शादी के बाद शारीरिक संबंध बनाने से 5 कैलोरी प्रति मिनट खर्च होती है जिससे दिल के धड़कने की गति में तेजी आती है जो दिल को स्वस्थता प्रदान कर हृदयाघात की संभावना को कम करती है।

5. शरीर में हो रहे दर्द को कम करने मेंः-

शारीरिक संबंध बनाने से आॅक्सीटोसिन नाम का हारमोन शरीर में बनता है जो शरीर में हो रहे दर्द को कम करता है।

6. तनाव को कम करने मेंः-

शारीरिक संबंध बनाने के बाद पति-पत्नी का तनाव कम होता है, उनके व्यवहार में चिड़चिड़ापन नहीं रहता है और वे ताज़गी के साथ दिन की शुरूआत करते हैं।

7. अच्छी नींद लाने मेंः-

शारीरिक संबंध के बाद शरीर में प्रोलैक्टिन नाम का हारमोन बनता है जो अच्छी नींद लाने में सहायक होता है।

अतएव विवाह के बाद अपने साथी के साथ बनाए शारीरिक संबंध आपको स्वस्थ जि़न्दगी प्रदान करते हैं और खुशहाल वैवाहिक जीवन का आधार होते हैं।

प्रतिक्रिया दीजिए