मंगोलपुरी : मछली मार्केट में छापेमारी के दौरान मिली जहरीली मछलियां, 25 टन मांगुर को किया गया दफन
जल्लीकट्टू पर हिंसक प्रदर्शन के दौरान पुलिस बर्बरता से जुड़ा वीडियो आया सामने
जम्मू-कश्मीर: हदूरा गांव में सुरक्षाबलों और आंतकवादियों के बीच गोलीबारी जारी
प्रियंका गांधी साल 2019 में रायबरेली से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगी?
डोनाल्ड ट्रंप आज रात 11 बजे पीएम मोदी से करेंगे टेलीफोन पर बात
तस्लीमा नसरीन ने यूनिफॉर्म सिविल कोड की वकालत की
तमिलनाडु में हिंसक प्रदर्शन के बीच विधानसभा में पास हुआ जल्लीकट्टू बिल
धमकियों से नहीं डरती, बस्तर नहीं छोड़ूंगी, यहीं रहूंगी : बेला भाटिया
मोदी की डिग्री मामले में डीयू के रिकॉर्ड खंगालने पर रोक
बीएसएनएल (BSNL) के नए ग्राहकों के लिए खुशखबरी : 149 रुपए में 30 मिनट प्रतिदिन मुफ्त कॉल!
उत्तरी दिल्ली में सड़क पर एक महिला का लाश मिली, पुलिस जांच में जुटी
थलसेना प्रमुख बिपिन रावत ने कश्मीर का दौरा किया
यूपी चुनाव 2017 : प्रियंका गांधी वाड्रा के लिए अहम रोल चाहते हैं कार्यकर्ता : कांग्रेस
गोवा: महिला ने लगाया बीजेपी मंत्री पर उत्पीड़न का आरोप, मामला दर्ज
एम्स का डॉक्टर बन लोगों को ठगता था व्यक्ति, पुलिस ने लिया हिरासत में
 सामुदायिक रेडियो स्टेशन राजनीतिक कार्यक्रमों का प्रसारण नहीं कर सकते: I&B मंत्रालय
पंजाब चुनाव: अकाली दल आज जारी करेगा घोषणापत्र,  गरीबों को 25 रु किलो घी देने का वादा
एक और खुशखबरी की तैयारी : पेट्रोल पंपों पर कार्ड पेमेंट पर यह छूट 31 मार्च के बाद भी जारी रख सकता है (RBI)
भारत को तत्काल समान नागरिक कानून की जरूरत: तस्लीमा
‘बजट में न हो चुनावी राज्यों से जुड़ी योजना का एलान’
पठानकोट हमले का खुलासा किसने लगाई सुरक्षा में सेंध ?

पठानकोट हमले को लेकर बड़ी बड़ी बातें सामने आ रही हैं, कोई इसके लिए कोटिनीति की विफलता बता रहा है तो कोई इसके लिए इंटेलिजेंस की चूक को दोषी मान रहा है, मगर इस पूरे घटनाक्रम पर हमारी रिपोर्ट कुछ और कहती है :

हमले से काफी पहले एयरबेस में घुस चुके थे आतंकी:
दरअसल ख़ुफ़िया विभाग की चेतावनी पर जब एयरबेस में सेना द्वारा सुरक्षा व्यूह बनाया जा रहा था उससे पूर्व ही दो आत्मघाती आतंकी कैम्पस में दाखिल हो चुके थे ; और इस दौरान पंजाब पुलिस के पुलिस अधीक्षक के इस दावे कि उसका हमलावरों ने अपहरण कर लिया था, की पुष्टि में कई घंटे बर्बाद कर दिए गए। रक्षा एजेंसियों ने यह बात कही है। सूत्रों ने बताया कि चेतावनी जारी होते ही पठानकोट वायु सैनिक ठिकाने सहित पंजाब के तमाम महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा शीषर्स्थ स्तर पर बढ़ा दी गई ताकि आतंकवादी हमला नहीं करने पाएं। सूत्रों के अनुसार, ‘हमें संदेह है कि आतंकवादी 1 जनवरी की सुबह ही वायु सैनिक ठिकाने में घुस चुके थे, जबकि चेतावनी उसके कुछ घंटे बाद शाम में जारी की गई।’ उनके अनुसार पंजाब पुलिस के अधीक्षक सलविन्दर सिंह से मिली जानकारी की पुष्टि में कुछ महत्वपूर्ण घंटे ज़ाया हो गए, जिसने दावा किया था कि उसे दो अन्य के साथ आतंकवादियों ने अगवा कर लिया था।

सूत्रों ने बताया कि सलविन्दर ने शुरू में जिन पुलिस अधिकारियों को आतंकवादियों के बारे में बताया उन्होंने इसे गंभीरता से नहीं लिया, जिससे समय बर्बाद हो गया। सुरक्षा एजेंसियों को संदेह है कि कुल छह आतंकवादी थे, जो दो हिस्सों में बंटे हुए थे। इनमें एक समूह में चार और दूसरे में दो आतंकवादी थे।

अपनों ने दिया धोखा :
हनी ट्रैप में फंसे वायुसेना के कर्मचारी रंजीत सिंह द्वारा ISI को दी गयी जानकारी ने सबसे ज्यादा नुकसान करवाया ; दरअसल इससे पहले कोई भी हमला इतनी सटीक प्लानिंग के साथ नहीं होता था ; मगर रंजीत सिंह ने शायद आतंकियों को काफी कुछ उपलब्ध करा दिया था जिसके कारण हमें अपने जांबाज़खोने पड़े । बेस में घुसने वाले आतंकियों को भी जरूर कोई और मदद मिली होगी जिससे वे इतनी आसानी से एयरबेस में दाखिल हो पाये । हालंकि ये हमला नाकाम कर दिया गया मगर सवाल यही है कि सरकार अपना काम कर रही है सेना अपना काम कर रही ऐसे में इन गद्दारों से किस तरह निपटा जाए?

प्रतिक्रिया दीजिए