दक्षिण अफ्रीका के इस खिलाड़ी ने दी क्लीन स्वीप की चेतावनी
दावोस की खूबसूरती में लगा चार चांद, बैठक से पहले पीएम मोदी ने बर्फबारी का उठाया लुत्फ
लालू ने जेल से ही बोला मोदी और नीतीश पर हमला ,ट्विटर पर लिखा-रौंदोगे तो हिमाला बनूँगा, विष दोगे तो शिवाला बनूँगा...!
पाकिस्तान को करारा जवाब, बीएसएफ ने 9000 गोले दागकर दुश्मनों के चौकियों और तेल डिपो को उड़ाया
भ्रूण लिंग परीक्षण रैैकेट का पर्दाफाश, सरपंच गिरफ्तार
पद्मावत की रिलीज से पूर्व देखने को तैयार करणी सेना
न्यायालय में लोया मामले में सुनवाई के दौरान हुई तीखी बहस
कुमार विश्वास ने अरविंद केजरीवाल पर किए ताबड़तोड़ हमले
केजरीवाल बोले, दिल्ली पर थोपे गए उपचुनाव से विकास में आएगी रकावट
`पद्मावत`: SC में पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई आज, करणी सेना रिलीज से पहले फिल्म देखने को तैयार
जम्मू में एके-47 चुराकर फरार एसपीओ गिरफ्तार
आरएसएस की पत्रिकाएं ‘उदारवाद का स्वर्णिम उदाहरण’ हैं: स्मृति ईरानी
दुनिया के किसी भी देश ने निस्वार्थ भाव से अफगानिस्तान में इतना काम नहीं किया जितना अमेरिका ने
गणतंत्र दिवस परेड की झांकी में साँची के स्तूप की झलक
दावोस में पहली बार होगा योग, दुनिया के नेताओं को सुबह-शाम आसन कराएंगे बाबा रामदेव के शिष्य
डब्ल्यूईएफ : मोदी ने शीर्ष वैश्विक कंपनियों के सीईओ से की मुलाकात
आज है रेवती नक्षत्र, बनना चाहते हैं करोड़पति तो करें इनमें से कोई 1 उपाय
मोदी ने स्विट्जरलैंड के राष्ट्रपति से की मुलाकात
सैयद मुश्ताक अली ट्रोफी में सुरेश रैना का धमाका, 49 गेंदों में बनाये इतने रन
मल्टीस्टार कॉमेडी फिल्म `वेलकम टू न्यूयॉर्क` का ट्रेलर रिलीज
पठानकोट हमले का खुलासा किसने लगाई सुरक्षा में सेंध ?

पठानकोट हमले को लेकर बड़ी बड़ी बातें सामने आ रही हैं, कोई इसके लिए कोटिनीति की विफलता बता रहा है तो कोई इसके लिए इंटेलिजेंस की चूक को दोषी मान रहा है, मगर इस पूरे घटनाक्रम पर हमारी रिपोर्ट कुछ और कहती है :

हमले से काफी पहले एयरबेस में घुस चुके थे आतंकी:
दरअसल ख़ुफ़िया विभाग की चेतावनी पर जब एयरबेस में सेना द्वारा सुरक्षा व्यूह बनाया जा रहा था उससे पूर्व ही दो आत्मघाती आतंकी कैम्पस में दाखिल हो चुके थे ; और इस दौरान पंजाब पुलिस के पुलिस अधीक्षक के इस दावे कि उसका हमलावरों ने अपहरण कर लिया था, की पुष्टि में कई घंटे बर्बाद कर दिए गए। रक्षा एजेंसियों ने यह बात कही है। सूत्रों ने बताया कि चेतावनी जारी होते ही पठानकोट वायु सैनिक ठिकाने सहित पंजाब के तमाम महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा शीषर्स्थ स्तर पर बढ़ा दी गई ताकि आतंकवादी हमला नहीं करने पाएं। सूत्रों के अनुसार, ‘हमें संदेह है कि आतंकवादी 1 जनवरी की सुबह ही वायु सैनिक ठिकाने में घुस चुके थे, जबकि चेतावनी उसके कुछ घंटे बाद शाम में जारी की गई।’ उनके अनुसार पंजाब पुलिस के अधीक्षक सलविन्दर सिंह से मिली जानकारी की पुष्टि में कुछ महत्वपूर्ण घंटे ज़ाया हो गए, जिसने दावा किया था कि उसे दो अन्य के साथ आतंकवादियों ने अगवा कर लिया था।

सूत्रों ने बताया कि सलविन्दर ने शुरू में जिन पुलिस अधिकारियों को आतंकवादियों के बारे में बताया उन्होंने इसे गंभीरता से नहीं लिया, जिससे समय बर्बाद हो गया। सुरक्षा एजेंसियों को संदेह है कि कुल छह आतंकवादी थे, जो दो हिस्सों में बंटे हुए थे। इनमें एक समूह में चार और दूसरे में दो आतंकवादी थे।

अपनों ने दिया धोखा :
हनी ट्रैप में फंसे वायुसेना के कर्मचारी रंजीत सिंह द्वारा ISI को दी गयी जानकारी ने सबसे ज्यादा नुकसान करवाया ; दरअसल इससे पहले कोई भी हमला इतनी सटीक प्लानिंग के साथ नहीं होता था ; मगर रंजीत सिंह ने शायद आतंकियों को काफी कुछ उपलब्ध करा दिया था जिसके कारण हमें अपने जांबाज़खोने पड़े । बेस में घुसने वाले आतंकियों को भी जरूर कोई और मदद मिली होगी जिससे वे इतनी आसानी से एयरबेस में दाखिल हो पाये । हालंकि ये हमला नाकाम कर दिया गया मगर सवाल यही है कि सरकार अपना काम कर रही है सेना अपना काम कर रही ऐसे में इन गद्दारों से किस तरह निपटा जाए?

प्रतिक्रिया दीजिए