दक्षिण अफ्रीका के इस खिलाड़ी ने दी क्लीन स्वीप की चेतावनी
दावोस की खूबसूरती में लगा चार चांद, बैठक से पहले पीएम मोदी ने बर्फबारी का उठाया लुत्फ
लालू ने जेल से ही बोला मोदी और नीतीश पर हमला ,ट्विटर पर लिखा-रौंदोगे तो हिमाला बनूँगा, विष दोगे तो शिवाला बनूँगा...!
पाकिस्तान को करारा जवाब, बीएसएफ ने 9000 गोले दागकर दुश्मनों के चौकियों और तेल डिपो को उड़ाया
भ्रूण लिंग परीक्षण रैैकेट का पर्दाफाश, सरपंच गिरफ्तार
पद्मावत की रिलीज से पूर्व देखने को तैयार करणी सेना
न्यायालय में लोया मामले में सुनवाई के दौरान हुई तीखी बहस
कुमार विश्वास ने अरविंद केजरीवाल पर किए ताबड़तोड़ हमले
केजरीवाल बोले, दिल्ली पर थोपे गए उपचुनाव से विकास में आएगी रकावट
`पद्मावत`: SC में पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई आज, करणी सेना रिलीज से पहले फिल्म देखने को तैयार
जम्मू में एके-47 चुराकर फरार एसपीओ गिरफ्तार
आरएसएस की पत्रिकाएं ‘उदारवाद का स्वर्णिम उदाहरण’ हैं: स्मृति ईरानी
दुनिया के किसी भी देश ने निस्वार्थ भाव से अफगानिस्तान में इतना काम नहीं किया जितना अमेरिका ने
गणतंत्र दिवस परेड की झांकी में साँची के स्तूप की झलक
दावोस में पहली बार होगा योग, दुनिया के नेताओं को सुबह-शाम आसन कराएंगे बाबा रामदेव के शिष्य
डब्ल्यूईएफ : मोदी ने शीर्ष वैश्विक कंपनियों के सीईओ से की मुलाकात
आज है रेवती नक्षत्र, बनना चाहते हैं करोड़पति तो करें इनमें से कोई 1 उपाय
मोदी ने स्विट्जरलैंड के राष्ट्रपति से की मुलाकात
सैयद मुश्ताक अली ट्रोफी में सुरेश रैना का धमाका, 49 गेंदों में बनाये इतने रन
मल्टीस्टार कॉमेडी फिल्म `वेलकम टू न्यूयॉर्क` का ट्रेलर रिलीज
भारत की पहली मस्जिद- चेरामन जुमा मस्जिद – मेथला,केरल

629ईस्वी में केरल के मेथला में बनी चेरामन जुमा मस्जिद को भारत में बनी पहली मस्जिद माना जाता है। प्राचीन काल से ही अरब व्यापारियों का भारत के मालाबार तट पर व्यापारिक कारणों से आना जाना शरू हो गया था। मालाबार तट, जिस पर केरल बसा हुआ है, भारत और दक्षिणपूर्व एशिया के बीच एक प्रमुख व्यापारिक केंद्र हुआ करता था। जब पैगम्बर मोहम्मद अरब में इस्लाम का विस्तार कर रहे थे, उसी वक़्त अरब व्यापारियों के द्वारा भी दुनिया भर में इस्लाम का सन्देश फैलाया जा रहा था ।

केरल में चेरा राज्य के शासक चेरामन पेरूमल भी अरब व्यापारियों के संपर्क में आए और उन्होंने इस्लाम को जानने में रूचि दिखायी। इसी भावना के साथ चेरामन पेरूमल ने अरब यात्रा की और पैगम्बर मोहम्मद से मुलाकात की। पैगम्बर मोहम्मद से मुलाकात के बाद चेरा राज्य के शासक ने इस्लाम धर्म को अपना लिया लेकिन अरब से वापसी के वक़्त रास्ते में ही उनकी मृत्यु हो गयी। चेरामन पेरूमल को सल्लाह,ओमान में दफनाया गया, उन्होंने अपने साथ यात्रा कर रहे अरब व्यापारी मलिक बिन दीनार के हाथो अपने रिश्तेदारों को संदेश भिजवाया कि वो चेरा राज्य में एक मस्जिद का निर्माण कराये और इस्लाम की शिक्षा के प्रसार में सहयोग दे। मेथला में जहाँ ये मस्जिद बनायीं गयी है, उसका नाम चेरामन पेरुमन और मलिक बिन दीनार के नाम पर चेरामन मलिक नगर रखा गया और मस्जिद का नाम चेरामन जुमा मस्जिद रखा गया।

चेरामन जुमा मस्जिद का नवीनीकरण कई बार किया जा चुका है लेकिन इसके मुख्य दरबार को संरक्षित रखा गया है। इस मस्जिद में जलने वाले “दिये” को एक हज़ार साल से भी ज्यादा पुराना बताया जाता है । मुस्लिम और गैर मुस्लिम धर्म के सभी लोग यहाँ आ कर इस “दिये” के लिए तेल दान करते है।

चेरामन जुमा मस्जिद भारत और इस्लाम के प्राचीन सम्बंध को स्थापित करती है और इस बात की गवाह है कि भारत में इस्लाम पैगम्बर मोहम्मद के समय ही अपनी उपस्तिथि दर्ज करा चुका था ।

प्रतिक्रिया दीजिए